नोटबंदी व जीएसटी पर पीएम मोदी के विरोधियों पर साधे गए निशाने पर यशवंत सिन्हा का पलटवार कहा मै भीष्म हूं, नहीं होने दूंगा अर्थव्यवस्था का चीरहरण

0
93

डे टुडे टाइम्स ब्यूरो
नई दिल्ली। नोटबंदी और जीएसटी को लेकर चरमरायी अर्थव्यवस्था पर बुधवार को पीएम मोदी द्वारा दी गई सफाई से भले ही कारोबारियों को थोड़ी राहत मिली हो। लेकिन पूर्व वित्तमंत्री और बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा इससे सहमत नहीं है। उन्होंने आज पीएम मोदी की सफाई और विरोधियों पर कसे गए तंज पर पलटवार किया है। सिन्हा ने पीएम मोदी को इसका जवाब देते हुए खुद को भीष्म बताया है और कहा कि मै अर्थव्यवस्था का चीर हरण नहीं होने दूंगा। यशवंत सिन्हा ने कहा कि पीएम मोदी ने अपने बयान में महाभारत के शल्य का जिक्र किया लेकिन मैं भीष्म हूं और अर्थव्यवस्था का चीर हरण नहीं होने दूंगा।
साथ ही यशवंत सिन्हा बोले कि पीएम मोदी ने कहा था पिछली सरकार के कार्यकाल में 8 बार ऐसे मौके आए जब जीडीपी 5.7 या उससे नीचे गिरी। यशवंत सिन्हा ने कहा कि दोनों सरकारों की तुलना करने का कोई मुद्दा ही नहीं है। सिन्हा ने कहा कि जनता ने यूपीए को बाहर कर दिया है, ऐसे में उनकी नाकामी गिनाने का कोई महत्तव नहीं। अब अगले चुनाव में जनता मौजूदा सरकार को काम के आधार पर टेस्ट करेगी। उन्होंने कहा कि जीएसटी ने व्यापार और कारोबारियों का बेड़ा गर्ग कर दिया है। लघु उद्योग बंद हो रहे हैं। बड़ी तादाद में युवा बेरोजगार हुए हैं। इसका जबाव कौन देगा।
ज्ञातव्य है कि हाल ही में यशवंत सिन्हा ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर मोदी सरकार की आलोचना की थी। इसके बाद अरुण शौरी ने भी आर्थिक नीति पर मोदी सरकार को घेरा था। वहीं विपक्ष लगातार नोटबंदी, जीएसटी और गिरती जीडीपी को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साध रहा है। यही नहीं जीएसटी की जटिलताओं और कर विसंगतियों को लेकर देश का कारोबारी भी परेशान है। जीएसटी की रीढ़ यानि जीएसटीएन काम नहीं कर रहा है। लेकिन सरकार अपनी नाकामियों को दूर करने के बजाए विरोधियों पर निशाना साधने में लगी हुई है।
इसी के परोक्ष्य में पीएम मोदी ने हर तरफ से हो रही आलोचना के बाद बुधवार को आंकडों के साथ जवाब दिए थे। द इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ इंडिया के गोल्डन जुबली समारोह में मोदी ने आर्थिक नीतियों पर हो रही आलोचना का आंकडों के साथ जवाब देते हुए कहा था कि कुछ लोग शल्य प्रवृत्ति के हैं, जिनकी आदत निराशा फैलाने की होती है और ऐसे लोगों की पहचान करना काफी जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here